व्यापार जगत : 1 जुलाई से आयकर के अंतर्गत डबल रेट से काटना होगा टी. डी. एस. एवं टी.सी.एस. : सीए चेतन तारवानी

व्यापार जगत : 1 जुलाई से आयकर के अंतर्गत डबल रेट से काटना होगा टी. डी. एस. एवं टी.सी.एस. : सीए चेतन तारवानी Pradakshina Consulting PVT LTD Support Us

  • रायपुर/एक्ट इंडिया न्यूज
  • इनकम टैक्स बार के पूर्व अध्यक्ष एवं सी.ए ब्रांच के पूर्व चेयरमेन सी.ए चेतन तरवानी ने बताया क़ि फाइनेंस बिल 2021 में इनकम टैक्स एक्ट में दो और नई धाराएं 206 ए बी एवं 206 सी सी ए जोड़ी गई है। जिसके अनुसार 1 जुलाई से टी.डी.एस. एवं टी.सी.एस. डबल रेट या 5% ( दोनों में जो अधिक हो) से काटना होगा।
यह डबल रेट का प्रावधान सिर्फ
निर्दिष्ट व्यक्ति से लेन-देन पर लागू होगा।

  • निर्दिष्ट व्यक्ति उन्हे परिभाषित किया गया है जिनका पिछले दोनो वित्तीय वर्ष में पचास हज़ार या अधिक टी.डी.एस. काटा गया है या टीसीएस वसूला गया है। साथ – साथ उन्होंने अपने दोनो वर्षो के आयकर रिटर्न फाइल नहीं किए है ये चारो बाते एक साथ लागू होगी तभी वो निर्दिष्ट व्यक्ति कहलाएंगे मतलब दोनों वर्षो में टीडीएस या टीसीएस की राशि 50000 या अधिक हों और दोनों ही वर्षो में आयकर रिटर्न फाइल नहीं किया हो अर्थात् दोनों वर्षो में से किसी वर्ष में टीडीएस या टीसीएस की राशि 50000 से कम हो या इन दोनों वर्षो में किसी एक वर्ष में भी आयकर रिटर्न फाइल किया हो तो निर्दिष्ट व्यक्ति नहीं कहलायेंगा और यदि निर्दिष्ट व्यक्ति कि परिभाषा में नहीं आएगा तो डबल रेट वाली धारा भी लागू नहीं होगी।
व्यापार जगत : 1 जुलाई से आयकर के अंतर्गत डबल रेट से काटना होगा टी. डी. एस. एवं टी.सी.एस. : सीए चेतन तारवानी Pradakshina Consulting PVT LTD
  • यहाँ यह समझना भी जरूरी है कि दो वित्तीय वर्ष किसे कहेंगे चालू वित्तीय वर्ष 2021- 2022 के लिए दो वित्तीय वर्ष कहलाएंगे वे वित्तीय वर्ष जिनका इंकम टैक्स रिटर्न फ़ाइल करने की निर्धारित तिथि समाप्त हों गई है ऐसी स्थिति में आज की तारीख़ में वित्तीय वर्ष 2018-2019 एवं 2019-2020 को शामिल किया जाएगा क्योंकि वित्तीय 2020-2021 का इनकम  टैक्स रिटर्न की आखिरी तारीख अभी समाप्त नहीं हुई है जब वित्तीय वर्ष 2020-2021 की आखिरी तारीख समाप्त जाएगी तो फिर चालू वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए दो वित्तीय वर्ष 2019-20 एवं 2020-21 को शामिल किया जायेगा।

व्यापार जगत : 1 जुलाई से आयकर के अंतर्गत डबल रेट से काटना होगा टी. डी. एस. एवं टी.सी.एस. : सीए चेतन तारवानी Pradakshina Consulting PVT LTD

  • यह धारा निम्न लेन – देन पर टीडीएस काटने पर लागू नहीं होगी – वेतन,ईपीएफ से प्रेमेच्योर  विड्रॉल, लॉटरी, होर्स रीडिंग ट्रस्ट में इन्वेस्टमेंट पर इनकम एवं बैंक से 1 करोड़ से अधिक विड्रॉल पर टीडीएस पर लागू नहीं है।
  • अब आपका प्रश्न हम कैसे चेक करेंगे जिनका हम टीडीएस काटने वाले है या टीसीएस वसूलने वाले है वो निर्दिष्ट व्यक्ति है कि अर्थात उसने पिछले दो वर्षो में इनकम टैक्स रिटर्न फाइल किया है या नही।
व्यापार जगत : 1 जुलाई से आयकर के अंतर्गत डबल रेट से काटना होगा टी. डी. एस. एवं टी.सी.एस. : सीए चेतन तारवानी Pradakshina Consulting PVT LTD
  • तो इसके लिए सीबीडीटी ने नई फंक्शनालिटी जारी किए है पोर्टल में पैन नम्बर डाल देंगे तो आपको पता चल जाएगा कि व्यक्ति ने अपना दोनों वित्तीय वर्ष का रिटर्न फाइल किया है या नहीं अर्थात् वो निर्दिष्ट व्यक्ति ( स्पेसिफ़ाइड व्यक्ति) है या नहीं।
  • यदि इस धारा को मान्य नहीं करते तो आप आयकर की धारा 201 के अंतर्गत अस्सेसी इन डिफ़ॉल्ट कहलाएँगे साथ ही साथ ब्याज एवं पेनल्टी भी लगेंगी तथा खर्चा भी अमान्य हों जाएगा।

देखे विडियों

व्यापार जगत : 1 जुलाई से आयकर के अंतर्गत डबल रेट से काटना होगा टी. डी. एस. एवं टी.सी.एस. : सीए चेतन तारवानी Pradakshina Consulting PVT LTD

व्यापार जगत : SBI सहित ये 15 बैंक अपनाने जा रहे ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी, कैसे होगा फायदा-पढ़े पूरी खबर

सिर्फ मिस्ड कॉल और वॉट्सऐप से भी बुक हो जाता है एलपीजी सिलेंडर, नोट कर लें ये फोन नंबर

कृषि जगत : करें ग्रीनहाउस में टमाटर की खेती, पाएं अधिक लाभ

आयकर विभाग : 1 जुलाई से कर रहा है नियमों में बदलाव

व्यापार जगत : 1 जुलाई से माल की खरीदी पर आयकर की नई धारा अनुसार काटना होगा टीडीएस – सीए चेतन तारवानी

Support Us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *