ब्लैक फंगस

ब्लैक फंगस के बारे में महत्वपर्ण जानकारी प्रसिद्ध नेत्र विशेषज्ञ डॉ. एल. सी. मढ़रिया ने वेबिनार में दी
छत्तीसगढ़, देश, बिलासपुर, ब्लैक फंगस, रायपुर, स्वास्थ्य

ब्लैक फंगस के बारे में महत्वपर्ण जानकारी प्रसिद्ध नेत्र विशेषज्ञ डॉ. एल. सी. मढ़रिया ने वेबिनार में दी

कूर्मि समाज ने ब्लेक फंगस पर वेबिनार के माध्यम से चलाया जागरूकता अभियान --------------- रायपुर/बिलासपुर/एक्ट इंडिया न्यूज कोरोना वैश्विक महामारी के दौर में समाज के वर्तमान एवं भावी पीढ़ी की आवश्यकता को देखते हुए सामाजिक सरोकार की चौथी कड़ी में गुरुवार को शाम 7 बजे से 8.30 बजे तक ऑनलाईन वेबिनार का आयोजन किया गया, जिसमें प्रख्यात नेत्र रोग विशेषज्ञ डा. एल.सी. मढरिया ने समाज के लोगों को ब्लेक फंगस के संबंध में विस्तार से जानकारी देते हुए शंका-समाधान पर महत्वपूर्ण मार्गदर्शन दिए। वेबिनार छत्तीसगढ़ कूर्मि - क्षत्रिय चेतना मंच के प्रदेशाध्यक्ष डा. निर्मल नायक के संरक्षण में कूर्मि डा. जीतेन्द्र सिंगरौल (प्रदेश महासचिव) की अगुवाई में आयोजित की गई। कार्यक्रम के प्रारंभ में कूर्मि ध्वजगान का वर्चुअल गान किया गया। शुरुवात में चेतना मंच के महासचिव डॉ. जीतेंद्र सिंगरौल ने कार्यक्रम क...
आपका मास्क ही बन सकता है ब्लैक फंगस का कारण, जानिए कैसे….
दिल्ली, देश, ब्लैक फंगस, स्वास्थ्य

आपका मास्क ही बन सकता है ब्लैक फंगस का कारण, जानिए कैसे….

नई दिल्ली/कोरोना वायरस की दूसरी लहर से भारत अभी जूझ ही रहा है कि ब्लैक फंगस नाम की एक और बीमारी तेजी से फैल रही है। लेकिन इस महामारी के फैलने के पीछे एक चौंकाने वाली वजह सामने आई है। कहीं जिस मास्क को आप कोरोना वायरस से बचाव के तौर पर इस्तेमाल कर रहे हैं वह ब्लैक फंगस की वजह तो नहीं बन रहा है। एम्स के डॉक्टर के मुताबिक एक ही मास्क को लगातार दी से तीन सप्ताह तक इस्तेमाल करने पर यह ब्लैक फंगस की वजह बन सकता है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) दिल्ली में न्यूरोसर्जरी विभाग के प्रोफेसर डॉ. पी शरत चंद्र ने ब्लैक फंगस के बारे में बात करते हुए कहा कि लगातार 2-3 हफ्ते तक एक ही मास्क को पहनना ब्लैक फंगस के विकास की वजह बन सकता है। ब्लैक फंगस होने के कई कारण डॉ. शरत चंद्र ने कहा “फंगन इंफेक्शन कोई नई चीज नहीं है। लेकिन यह कभी भी महामारी की शक्ल में नहीं हुआ। हमें अभी भी ...
ब्लैक फंगस : 11 राज्यों में महामारी घोषित, सबसे ज्यादा केस इस राज्य में
ब्लैक फंगस, स्वास्थ्य

ब्लैक फंगस : 11 राज्यों में महामारी घोषित, सबसे ज्यादा केस इस राज्य में

15 राज्यों में अब तक 9320 मामले, 235 ने गवाई जान --------------- कोरोना के बीच म्यूकर माइकोसिस यानी ब्लैक फंगस खतरनाक होता जा रहा है। गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश समेत 15 राज्यों में ही अब तक ब्लैक फंगस के 9,320 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं 235 लोगों की मौत हो चुकी है। सबसे ज्यादा 5000 हजार मामले तो अकेले गुजरात में ही सामने आए हैं। इस संक्रमण के चलते कुछ मरीजों की आंख तक निकालनी पड़ रही है। ब्लैक फंगस को हरियाणा ने सबसे पहले महामारी घोषित किया था। उसके बाद राजस्थान ने भी इस संक्रमण को महामारी एक्ट में शामिल कर लिया। फिर केंद्र सरकार ने भी सभी राज्यों के कहा कि ब्लैक फंगस को पेन्डेमिक एक्ट के तहत नोटिफाई किया जाए। इसके बाद उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा, कर्नाटक, तेलांगना और तमिलनाडु भी ब्लैक संक्रमण को महामारी घोषि...
स्वास्थ्य : ब्लैक फंगस : क्यों और किसे हो सकता है, जानिए क्या कहते हैं डॉक्टर
दिल्ली, देश, ब्लैक फंगस, स्वास्थ्य

स्वास्थ्य : ब्लैक फंगस : क्यों और किसे हो सकता है, जानिए क्या कहते हैं डॉक्टर

नई दिल्ली/कोरोना कहर के बीच फंगल इन्फेक्शन के मामले में सामने आते जा रहे हैं। फंगल इंफेक्शन कोरोना मरीजों में ज्यादा पाया जा रहा है। एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा कि फंगस इन्फेक्शन पहले बहुत रेयर था। यह उन लोगों में दिखता था जिनका शुगर बहुत ज्यादा हो, डायबिटीज अनकंट्रोल है, इम्युनिटी बहुत कम है या कैंसर के ऐसे पेशंट्स हैं जो कीमोथैरपी पर हैं। लेकिन आज इसके ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। इसके साथ ही डॉ गुलेरिया ने कहा कि स्टेरॉयड्स का ज्यादा इस्तेमाल करने से ब्लैक फंगल के मामले आ रहे हैं। तेजी से सामने आ रहे मामले डॉ गुलेरिया ने कहा कि आम लोगों में आम तौर पर फंगल इंफेक्शन नहीं पाया जाता था लेकिन कोरोना की वजह से इसके केस काफी आ रहे हैं। एम्स में ही फंगल इन्फेक्शन के 23 मामले हैं। इनमें से 20 अभी भी कोरोना पॉजिटिव हैं और 3 कोरोना नेगेटिव हैं। कई राज्य ऐसे हैं जहां फंगल इ...
ब्लैक फंगस : महिला का आधा चेहरा निकालकर डॉक्टरों ने बचाई जान
दुनिया, देश, ब्लैक फंगस, स्वास्थ्य

ब्लैक फंगस : महिला का आधा चेहरा निकालकर डॉक्टरों ने बचाई जान

कोरोना की दूसरी लहर में पैदा हुई नई समस्या ब्लैक फंगस यानी मयूकरमाइकोसिस का प्रकोप अब वाराणसी समेत पूरे पूर्वांचल पर दिखने लगा है. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय  के ईएनटी विभाग में इस इंफेक्शन से पीड़ित 52 वर्षीय महिला की सर्जरी की गई. 6 घंटे तक चली इस सर्जरी में महिला का आधा चेहरा निकाल कर उसे बचाया गया। यह पहला मामला है, जब किसी मरीज का आधा चेहरा डॉक्टरों को निकालना पड़ा हो. इससे पहले बीएचयू में तीन और मरीजों को भी ब्लैक फंगस की शिकायत मिली थी लेकिन उन्हें सिर्फ नाक के ऑपरेशन के जरिए ही बचाया जा सका. यह पहला मामला है जब जबड़े समेत आधे चेहरे को निकालकर महिला की जान बचाई गई। अब चारों मरीज बीएचयू के आईसीयू में एडमिट हैं और उनको एंटीफंगल ड्रग्स दी जा रही है. इस सफल ऑपरेशन को ईएनटी विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ सुशील कुमार अग्रवाल ने अपनी टीम डॉक्टर शिलकी, डॉक्टर रामराज, डॉक्टर अ...
ब्लैक फंगस : छत्तीसगढ़ में पहली मौत, CMHO ने सभी निजी अस्पतालों को किया अलर्ट
Breaking News, ब्लैक फंगस, स्वास्थ्य

ब्लैक फंगस : छत्तीसगढ़ में पहली मौत, CMHO ने सभी निजी अस्पतालों को किया अलर्ट

दुर्ग। छत्तीसगढ़ में ब्लैक फंगस से युवक की मौत हो गई। ब्लैक फंगस का मामला सामने आने के बाद छत्तीसगढ़ में पहली मौत है। इधर मौत की खबर ने स्वास्थ्य महकमे की चिंता बढ़ा दी है। भिलाई के सेक्टर 9 अस्पताल में भर्ती युवक ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले युवक कोरोना से संक्रमित हुआ था। वहीं इलाज के बाद ब्लैक फंगस से संक्रमित हो गया। मौत की पुष्टि स्वास्थ्य विभाग ने की है। बताया जा रहा है कि युवक शुगर समेत अन्य बीमारियों से पीड़ित था। दुर्ग CMHO ने सभी निजी अस्पतालों को अलर्ट किया है। राज्य सरकार ने किया अलर्ट ब्लैक फंगस बीमारी को राज्य सरकार ने गंभीरता से लिया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सभी जिलों में फंगस के उपचार के लिए सभी जरूरी दवाओं की उपलब्धता के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों को दिए हैं। https://www.actindianews.in/big-breakin...
BIG CG ब्रेकिंग : छत्तीसगढ़ में ब्लैक फंगस की एंट्री, एम्स में भर्ती कराये गये 15 मरीज
छत्तीसगढ़, देश, ब्लैक फंगस, रायपुर

BIG CG ब्रेकिंग : छत्तीसगढ़ में ब्लैक फंगस की एंट्री, एम्स में भर्ती कराये गये 15 मरीज

ज्यादातर मरीजों की आंखों में फैला इंफेक्शन मामलों की पुष्टि के बाद मचा हड़कंप… --------------- रायपुर/एक्ट इंडिया न्यूज/12/05/2021 छत्तीसगढ़ में अब कोरोना के बाद ब्लैक फंगल फैल गया है। रायपुर के एम्स में 15 ब्लैक फंगल के मरीज भर्ती कराया गये हैं। अभी तक कोरोना से ठीक हुए बुजुर्ग मरीज ही इसके शिकार हुए हैं। हालात ऐसे हैं कि पिछले 10 दिनों में 15 मामलों की पुष्टि हो चुकी हैं। वहीं इसके इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवाओं की किल्लत हो गई है। 15 मरीज रायपुर एम्स में भर्ती किए गए हैं, इस खबर की पुष्टि स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कर दी है। बताया जा रहा है कि कोरोना की अनियंत्रित दवाओं की वजह से ब्लैक फंगस मरीजों को हो रहा है। प्रारंभिक जांच में इस बात की जानकारी सामने आयी है कि रायपुर एम्स में भर्ती 15 ब्लैक फंगल के मरीजों में 8 मरीजों की आंखों में फंगल इंफेक्शन है, जबकि बाकी ...