बस्तर में पुलिस – नक्सली मुठभेड़ : बड़ी मात्रा में विस्फोटक बरामद

बस्तर में पुलिस - नक्सली मुठभेड़ : बड़ी मात्रा में विस्फोटक बरामद Pradakshina Consulting PVT LTD Support Us

एक नक्सली मारा गया

  • छत्तीसगढ़ के बस्तर में आतंक के खिलाफ जवानों को बड़ी सफलता हाथ लगी है। सुरक्षाबलों ने बीजापुर, सुकमा और दंतेवाड़ा सीमा से लगे परलगट्टा-बेंनपल्ली के जंगल में शनिवार को हुई मुठभेड़ में एक नक्सली को ढेर कर दिया है। यह कार्रवाई DRG जवानों द्वारा की गई है। मौके से दंतेवाड़ा DRG ने मारे गए नक्सली का शव भी बरामद किया है।
  • इसके अलावा मौके से 2 हथियार, 5 किलो का IED, हैंड ग्रेनेड और माओवादियों के कैम्प सामग्री बरामद किए हैं। सुरक्षाबल मौके पर बड़े कैडर के नक्सली लिंगा और शंकर के होने की सूचना पर सर्च ऑपरेशन चलाए हुए हैंं। फिलहाल मरने वाले माओवादी की पहचान अब तक नहीं हो सकी है।
  • मामले को लेकर एसपी डॉ.अभिषेक पल्लव ने बताया कि परलगट्टा-बेंनपल्ली गांव में नक्सली लगातार ग्रामीणों पर सुकमा-बीजापुर बार्डर पर सिलगेर पर बने जवानों के कैंप का विरोध करने का दबाव बना रहे हैं। इस बात की सूचना मिली थी,जिस पर DRG की एक टुकड़ी मौके पर गई थी। एसपी ने यहां भी बताया है कि मौके पर 30 से 40 की संख्या में नक्सली मौजूद थे।
जंगल की आड़ लेकर भाग निकले नक्सली
  • एसपी ने बताया कि दोपहर करीब 12.30 बजे जैसे ही जवानों की टोली मौके पर पहुंची, जगरगुण्डा एरिया कमेटी के नक्सली गोलियां चलाने लगे। जिस पर जवाबी कार्रवाई की गई और सर्च करने पर मौके से एक नक्सली का शव बरामद किया गया है। जबकि जंगलों की आड़ लेकर अन्य नक्सली मौके से फरार हो गए। पुलिस के मुताबिकज गरगुण्डा एरिया कमेटी सदस्य लिंगा और बासागुड़ा एलओएस कमांडर शंकर घटनास्थल पर मौजदू हैं। जिसके चलते आसपास के इलाके में सर्चिंग जारी है। नक्सली लिंगा और शंकर कई नक्सली हमलों में शामिल रहे हैं।
बस्तर में इन दिनों क्या हो रहा है
  • दरअसल, छत्तीसगढ़ के सुकमा-बीजापुर बार्डर पर सिलगेर में जवानों का कैंप बनाया गया है। ग्रामीण इसी कैंप का विरोध कर रहे हैं। गांववालों का आरोप है कि फोर्स ने हमारे जल, जंगल, जमीन पर कब्जा किया है। इसे लेकर गांव में नाराजगी है और वे इसके विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं ।
  • जिसके चलते 5 दिन पहले यहां पर फायरिंग हो गई। फायरिंग में 3 लोग मारे गए हैं। जबकि कई घायल हुए हैं। मारे गए लोगों की पहचान स्थानीय ग्रामीणों के रूप में हुई है। वहीं ग्रामीणों का दावा है कि फायरिंग में और भी ग्रामीण मार गए हैं। परलगट्टा-बेंनपल्ली में हुई मुठभेड़ को लेकर एसपी ने कहा है कि नक्सली यहां सिलगेर में बन रहे कैंप का विरोध करने के लिए ग्रामीणों पर दबाव बनाने पहुंचे थे।

उतर रही है कोरोना की नदी – तारन प्रकाश सिन्हा

व्यापार जगत : सरकारी रेट पर सस्ता और खरा सोना खरीदने का सुनहरा मौका

हेल्थ एंड फिटनेस : ग्वार फली के सेवन से कई गंभीर बीमारियां रहती हैं दूर

दुनिया की सबसे महंगी और शानदार कॉफी – बनती है इस जानवर की पॉटी से

अब फोन और नंबर बदलने पर भी डिलीट नहीं होगा व्हाट्सएप, जानें कैसे?

आपका मास्क ही बन सकता है ब्लैक फंगस का कारण, जानिए कैसे….

कोरोना की जांच अब घर बैठे 250 रुपए में कोविसेल्फ से करें – जानें इस्तेमाल का तरीका

Support Us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *