बंगाल की सियासत : टीएमसी की सांसद महुआ के आरोप पर क्या बोले गवर्नर जगदीप धनखड़

बंगाल की सियासत : टीएमसी की सांसद महुआ के आरोप पर क्या बोले गवर्नर जगदीप धनखड़ Pradakshina Consulting PVT LTD Support Us

रिश्तेदारों को नौकरी देने के

आरोपों पर बोले, न मेरी जाति के

और मेरे राज्य के भी नही है

—————

  • राजभवन में अपने तीन रिश्तेदारों को नौकरी देने के आरोपों का पश्चिम बंगाल के गवर्नर जगदीप धनखड़ ने खंडन किया है। टीएमसी की सांसद महुआ मोइत्रा ने रविवार को गवर्नर पर ये आरोप लगाए थे, जिस पर राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने तथ्यों के साथ जवाब दिया है।
  • धनखड़ ने सोमवार को ट्वीट किया कि आरोप तथ्यात्मक रूप से गलत हैं। उन्होंने कहा कि उनके परिवार का कोई भी सदस्य नहीं है। इसके अलावा 4 लोग तो उनकी जाति के ही नहीं हैं।
  • राज्यपाल ने लिखा‘महुआ मोइत्रा का यह ट्वीट और मीडिया में बयान कि पर्सनल में स्टाफ में 6 लोगों की जो नियुक्त हुई है, वे मेरे रिश्तेदार हैं। पूरी तरह से गलत है। ओएसडी तीन अलग राज्यों के हैं और 4 अलग-अलग जातियों से आते हैं। इनमें से कोई भी मेरे परिवार का नहीं हैं। यहां तक कि 4 तो मेरे राज्य और जाति के ही नहीं हैं।’
  • रविवार को महुआ मोइत्रा ने धनखड़ पर हमला बोलते हुए कहा था कि उन्होंने अपने तीन रिश्तेदारों को ही राजभवन में ओएसडी के तौर पर नियुक्ति दी है। इसके अलावा राजभवन के अधिकारियों के तीन करीबियों को जगह दी गई है।
  • मोइत्रा के आरोपों पर जवाब देते हुए धनखड़ ने कहा कि टीएमसी सांसद ने इस तरह का बयान इसलिए दिया है ताकि राज्य में कानून व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति से ध्यान हटाया जा सके।
  • राज्यपाल ने ट्वीट किया, ‘ममता बनर्जी के शासन में कानून-व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति से ध्यान हटाने की यह रणनीति है। मैं संविधान के अनुच्छेद 159 के तहत ली गई शपथ के अनुसार राज्य के हितों के लिए काम करता रहूंगा।’
  • मोइत्रा ने रविवार को कहा था कि यदि राज्यपाल अपने बड़े परिवार के साथ बंगाल से चले जाएं तो स्थिति सुधर जाएगी। जगदीप धनखड़ ने जुलाई 2019 में बंगाल के राज्यपाल के तौर पर प्रभार संभाला था। तब से ही टीएमसी की मुखिया ममता बनर्जी के साथ उनके रिश्तों में अनबन रही है।
  • टीएमसी नेताओं की ओर से कई बार राज्यपाल पर बीजेपी का एजेंट होने और भेदभाव बरतने के आरोप लगाए जाते रहे हैं। वहीं गवर्नर बंगाल में कानून व्यवस्था के मुद्दे और चुनावी हिंसा को लेकर ममता बनर्जी सरकार की कई बार आलोचना कर चुके हैं।
  • बता दें कि जगदीप धनखड़ ने हाल ही में ममता सरकार पर आरोप लगाया था कि वह चुनाव के बाद जारी हिंसा को रोकने में असफल रही है। यही नहीं उन्होंने सीएम ममता बनर्जी से कहा था कि वह सोमवार को आकर उनसे मुलाकात करें ताकि राजनीतिक हिंसा से पैदा हालातों पर चर्चा की जा सके। गवर्नर के इस ट्ववीट के बाद ही महुआ मोइत्रा ने उन पर हमला बोला था।

बंगाल की सियासत : टीएमसी की सांसद महुआ के आरोप पर क्या बोले गवर्नर जगदीप धनखड़ Pradakshina Consulting PVT LTD

अगर आपको यह पोस्ट जानकारी पूर्ण उपयोगी लगे तो कृपया इसे शेयर जरूर करें।

बंगाल की सियासत : टीएमसी की सांसद महुआ के आरोप पर क्या बोले गवर्नर जगदीप धनखड़ Pradakshina Consulting PVT LTD

व्यापार जगत : 14 से 16 जून तक बंपर कमाई का मौका, कैसे – पढ़े खबर विस्तार से

नीति आयोग ने दिखाया आईना, भाजपा को शर्मिंदा होना चाहिए : शैलेश नितिन त्रिवेदी

कोरोना वैक्‍सीन लेने से पहले और बाद में किन बातों का विशेष ध्यान रखना है – पढ़े विस्तार से…..

एम्स में आज से शुरू होगा बच्चों को संक्रमण से बचाने कोवाक्सिन का ट्रायल

ब्लैक फंगस के बारे में महत्वपर्ण जानकारी प्रसिद्ध नेत्र विशेषज्ञ डॉ. एल. सी. मढ़रिया ने वेबिनार में दी

केंद्र की चेतावनी : आहट कोरोना के तीसरी लहर की, 90 हजार बच्‍चे कोरोना संक्रमित….

Support Us

Leave a Reply

Your email address will not be published.