सक्ती मेरी कर्मभूमि है और सक्ती ही मेरा अभिमान – धर्मेंद्र सिंह सक्ती

सक्ती मेरी कर्मभूमि है और सक्ती ही मेरा अभिमान - धर्मेंद्र सिंह सक्ती Pradakshina Consulting PVT LTD Support Us

धर्मेंद्र सिंह ने भूपेश बघेल से मिलकर
जिला बनाने पर आभार व्यक्त किया
—————
  • सक्ती/एक्ट इंडिया न्यूज/कन्हैया गोयल
  • सक्ती विधानसभा क्षेत्र के नागरिकों से राज परिवार सक्ती का दशकों से पुराना संबंध चला आ रहा है तथा आगे भी यह संबंध सभी के आशीर्वाद एवं स्नेह से यूं ही बना रहेगा, उक्तआशय की बातें एक भेंटवार्ता में जनपद पंचायत सक्ती के सदस्य, छत्तीसगढ़ प्रदेश युवा कांग्रेस के सह सचिव एवं कोरबा जिले के प्रभारी तथा जांजगीर-चांपा जिला सर्व युवा आदिवासी समाज के जिला अध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह ने कही है।
  • धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि उन्होंने 4 सितंबर को छत्तीसगढ़ प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से राजधानी रायपुर स्थित कांग्रेस भवन में मुलाकात कर उन्हें सक्ती को राजस्व जिले का दर्जा दिए जाने पर उनका आभार व्यक्त किया है, साथ ही मुख्यमंत्री को जिला बनाए जाने पर पूरे क्षेत्र की जनता की ओर से धन्यवाद भी ज्ञापित किया है तथा धर्मेंद्र सिंह ने भेंटवार्ता में कहा कि सक्ती क्षेत्र की जनता ही हमारी आन- बान एवं शान है तथा सभी क्षेत्रवासियों का सदैव स्नेह राज परिवार के प्रति बना रहा है एवं आने वाले समय में भी यही स्नेह यूं ही बरकरार रहे।
सक्ती मेरी कर्मभूमि है और सक्ती ही मेरा अभिमान - धर्मेंद्र सिंह सक्ती Pradakshina Consulting PVT LTD
  • धर्मेंद्र सिंह ने कहा कि मेरे पिता राजा सुरेंद्र बहादुर सिंह के पद चिन्हों पर चलकर वे भी पूरे क्षेत्र की सेवा करना चाहते हैं तथा राजा सुरेंद्र बहादुर सिंह अविभाजित मध्यप्रदेश के समय कैबिनेट मंत्री के रूप में जनता के सुख- दुख में सदैव सहभागी रहे एवं आने वाले समय में भी राजा साहब का आशीर्वाद उन्हें एवं क्षेत्र की जनता के प्रति भी इसी तरह से बना रहेगा।
  • धर्मेंद्र सिंह ने कहा कि सक्ती विधानसभा क्षेत्र की सभी छोटी-बड़ी समस्याओं के निराकरण के लिए सदैव राजपरिवार ने भी निरंतर संघर्ष करते हुए सकारात्मक पहल की है तथा जिला बनाए जाने के विषय को लेकर भी राजा सुरेंद्र बहादुर सिंह ने वर्ष-2021 के जनवरी माह में ही प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के जांजगीर प्रवास के दौरान सर्किट हाउस में मिलकर उन्हें 14 जनवरी मकर सक्रांति के दिन स्वयं सक्ती आकर सकती को जिला घोषित करने का आग्रह भी किया था, साथ ही राजा सुरेंद्र बहादुर सिंह ने जनहित से जुड़े विषयों पर सदैव क्षेत्र के नागरिकों की जन भावनाओं को ऊपर तक पहुंचाने का कार्य किया एवं सभी के सुख- दुख में हमेशा ही वे सहभागी रहे हैं।

सक्ती मेरी कर्मभूमि है और सक्ती ही मेरा अभिमान - धर्मेंद्र सिंह सक्ती Pradakshina Consulting PVT LTD

  • धर्मेंद्र सिंह ने कहा कि सक्ती मेरी कर्मभूमि हैं, तथा सक्ती क्षेत्र की जनता अपनी किसी भी समस्याओं के लिए मुझसे सीधे संपर्क कर सकती है, धर्मेंद्र सिंह ने कहा कि सक्ती क्षेत्र विकास के मामले में सदैव अग्रणी रहा है एवं आने वाले समय में भी सभी के सहयोग से यह क्षेत्र विकास करता रहेगा, साथ ही सक्ती क्षेत्र की जनहित से जुड़ी ऐसी समस्याएं जो कि नागरिकों की जन भावनाओं से जुड़ी हुई हैं, उनके निराकरण के लिए भी वे स्वयं प्रयास करेंगे।
  • धर्मेंद्र सिंह ने आगे कहा ही सक्ती क्षेत्र के रेल यात्रियों की वर्षों पुरानी गोंडवाना एक्सप्रेस के स्टॉपेज की मांग के लिए भी वे जनप्रतिनिधियों से आग्रह कर प्रमुखता से इस बात को अवगत कराएंगे साथ ही सक्ती रेलवे स्टेशन में फुट ओवर ब्रिज की समस्या को देखते हुए इसके लिए भी वे पहल करेंगे, सक्ती  क्षेत्र अविभाजित मध्यप्रदेश के समय से एक एक अलग पहचान रही है।
  • सक्ती क्षेत्र के चारों ओर प्रसिद्ध धार्मिक स्थल एवं पर्यटन स्थल इसकी शोभा बढ़ा रहे हैं एवं आने वाले समय में इन पर्यटन स्थलों का भी और अधिक तेजी से विकास हो इस दिशा में भी वे पहल करेंगे।
Support Us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *