वैज्ञानिकों ने किया खुलासा – इंसान अधिकतम कितने साल तक जिंदा रह सकता हैं …

वैज्ञानिकों ने किया खुलासा - इंसान अधिकतम कितने साल तक जिंदा रह सकता हैं … Pradakshina Consulting PVT LTD Support Us
  • क्या आप जानते हैं कि आप अधिकतम कितने साल तक जिंदा रह सकते हैं? आपने 114 या 116 साल की उम्र के सबसे अधिकतम शख्स के बारे में सुना होगा। वैज्ञानिकों को इसका अंदाजा लगाने में कामयाबी मिली है। नेचर कम्यूनिकेशन (Nature Communication) में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, इंसान की अधिकतम उम्र 150 साल है। जानिए वैज्ञानिकों ने किस तरीके से की यह गणना।

वैज्ञानिकों ने बनाए खास इंडिकेटर्स

  • बता दें कि सिंगापुर (Singapore) के वैज्ञानिकों (Scientists) ने मनुष्य की अधिकतम उम्र जानने के लिए स्पेशल इंडिकेटर्स (Indicators) बनाए हैं। इन इंडिकेटर्स को डायनेमिक ऑर्गेनिज्म स्टेट इंडिकेटर (Dynamic Organization State Indicator) या DOSI कहा जाता है। यह इंडिकेटर्स किसी आपकी अधिकतम उम्र बताने में सक्षम हैं।

अधिकतम 150 साल तक

जिंदा रह सकता है इंसान

  • जान लें कि अधिकतम उम्र पता करने के लिए स्पेशल तरीके से खून की जांच की जाती है। वैज्ञानिकों ने खून की जांच के बाद इंडिकेटर्स के साथ उसे मैच करके देखा। इस शोध में ये पता चला कि अगर सेहत ठीक रहे और परिस्थितयां इंसान के शरीर के अनुकूल रहें तो वह अधिकतम 150 साल तक जिंदा रह सकता है। रिसर्चर्स ने उम्र संबंधी वैरिएबल्स (Age Variables) और उम्र घटने के ट्रैजेक्टरी (Trajectory) को सिंगल मैट्रिक (Single Metric) में डालकर देखा। इससे संभावित अधिकतम उम्र का पता चला।

वैज्ञानिक किसे मानते हैं उम्र का बढ़ना

  • गौरतलब है कि बायोलॉजी (Biology) की भाषा में उम्र का बढ़ना, शरीर के अंगों के कम काम करने को कहते हैं। जिसके कारण बढ़ती उम्र के साथ शरीर बीमारियों से घिरता जाता है। इनमें कैंसर, मानसिक परेशानी या दिल की बीमारियां हो सकती हैं। उम्र बढ़ने का दूसरा कारण शरीर के डीएनए (DNA) का लगातार विभाजन होना है। इसकी वजह से इंसान बीमारियों से संक्रमित हो जाता है और शरीर उसका साथ छोड़ने लगता है।

इस तरह किया गया शोध

  • इंसान की अधिकतम उम्र पता करने के लिए वैज्ञानिकों ने अलग-अलग उम्र के इंसानों के खून का सैंपल लिया। उनके कंप्लीट ब्लड काउंट (CBC) की जांच की। इस टेस्ट में खून में उपस्थित सफेद रक्त कोशिकाओं (WBC), लाल रक्त कोशिकाओं (RBC) और प्लेटलेट्स (Platelets) की मात्रा को देखा जाता है। फिर घटती उम्र की ट्रैजेक्टरी (Trajectory) और CBC के आंकड़ों को मिलाकर देखा गया।
  • इससे पता चला कि इंसान को किस उम्र में कौन सी बीमारी हो सकती है और बीमारी उसके शरीर पर क्या असर डाल सकती है। शरीर को कितने तरह की बीमारियों से संघर्ष करना पड़ सकता है। यह इंडिकेटर्स (Indicators) शरीर की फिजिकल क्षमता के बारे में भी बताते हैं। DOSI बताता है कि जो लोग अच्छे लाइफस्टाइल से नहीं जीते हैं, उनकी उम्र कम होती है।
अगर आपको यह पोस्ट जानकारी पूर्ण उपयोगी लगे तो कृपया इसे शेयर जरूर करें।
Support Us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *