वास्तु के नियम : कब रूठ जाती हैं महालक्ष्मी

वास्तु के नियम : कब रूठ जाती हैं महालक्ष्मी Pradakshina Consulting PVT LTD Support Us

छत पर भूल से भी ना रखें ये सामान

घर की छत को हमेशा रखें साफ सुथरा 

घर की छत पर बांस रखना होता है अशुभ


  • घर के अंदर तो हर कोई साफ सफाई रखता है लेकिन उन हिस्सों पर ध्यान नहीं देते हैं, जहां आवागमन कम होता है. जैसे बात करें घर की छत की. यहां ऐसा सामान रख दिया जाता है जिसका घर में प्रयोग नहीं होता है या फिर सीधे समझें तो कबाड़ जैसी चीजों को यहां रखकर लोग भूल जाते हैं. ज्योतिष के अनुसार घर की छत को भी साफ सुथरा रखना चाहिए. यहां कुछ चीजों का रखा जाना बेहद अशुभ माना जाता है।

वास्तु के नियम : कब रूठ जाती हैं महालक्ष्मी Pradakshina Consulting PVT LTD

  • वास्तु के अनुसार घर की छत पर अनपयोगी सामान रखने से नकारात्मक शिक्तियां हावी रहती हैं. इससे घर में रहने वाले सदस्यों के स्वास्थ्य पर ही बुरा असर नहीं पड़ता है, बल्कि धन की देवी मां लक्ष्मी भी रूठ जाती हैं और हमेशा धन हांनि होती रहती है. ज्योतिष के अनुसार घर की छत को भी साफ सुथरा रखना चाहिए. यहां कुछ चीजों का रखा जाना बेहद अशुभ माना जाता है. आइए बताते हैं कि घर की छत पर कौन सी चीजें नहीं रखनी हैं.

घर की छत पर ना रखें ये सामान

वास्तु के नियम : कब रूठ जाती हैं महालक्ष्मी Pradakshina Consulting PVT LTD

  • 1. मटके, टूटे गमले – घर की छत पर लोग अक्सर मटके, टूटे-फूटे गमले रख देते हैं. ये अशुभ माने जाते हैं.
  • 2. कबाड़ – घर की छत पर किसी भी प्रकार का कबाड़ भी ना रखें.
  • 3. पत्ते – घर के आसपास पेड़ हैं तो उस पर पत्ते एकत्रित ना होने दें, उन्हें साफ करते रहना चाहिए.
  • 4 . बांस – घर की छत पर बांस भी रखना अशुभ है.
  • 5. झाड़ू  – घर की छत पर झाड़ू भी नहीं रखनी चाहिए.
  • 6. रस्सी – घर की छत पर कपड़े सुखाने की रस्सी बांध दें, लेकिन किसी भी प्रकार की रस्सी या उसके बंच नहीं रखना चाहिए.
  • 7. जंग लगा हुआ सामान – जंग लगा हुआ लोहे का कोई सामान घर की छत पर ना रखें.
  • 8. लकड़ी का सामान – छत पर किसी भी प्रकार का बेकार लकड़ी का सामान ना रखें.
  • 9. रद्दी – घर की छत पर अखबार या कॉपी किताब की रद्दी ना रखें।

नोट-ः उक्त समाचार में दी गई जानकारी सूचना मात्र है। एक्ट इंडिया न्यूज इसकी पुष्टि नहीं करता है। दी गई जानकारी प्रचलित मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। ऐसे में किसी कार्य को शुरू करने के पूर्व विशेषज्ञ से जानकारी अवश्य प्राप्त कर लें।
Support Us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *