बाबा रामदेव ने वर्तमान में इस बढ़ते विवाद पर क्या कहा

बाबा रामदेव ने वर्तमान में इस बढ़ते विवाद पर क्या कहा Pradakshina Consulting PVT LTD Support Us

इस विवाद को ईमानदारी और

दिल से समाप्त करना चाहता हूं।

—————

  • एलोपैथी VS आर्युवेद के बीच योग गुरु रामदेव का बड़ा बयान आया है. रामदेव ने कहा है कि हमारा अभियान ऐलोपैथी व श्रेष्ठ डाक्टर्स के खिलाफ नहीं है. हम मॉडर्न मेडिकल साइंस और डॉक्टर्स का सम्मान करते हैं. अभियान उन ड्रग माफियाओं के खिलाफ है जो 2 रुपये की दवाई को 2000 में बेचते हैं और गैरजरूरी ऑपरेशन व टेस्ट और अनावश्यक दवा का धंधा करते हैं. रामदेव ने कहा है, हम इस विवाद को खत्म करना चाहते हैं.

योग को नीचा न दिखाएं’

  • एक और ट्वीट करते हुए योग गुरु रामदेव ने लिखा है, यदि एलोपैथी में सर्जरी व लाइफ सेविंग ड्रग्स हैं तो शेष 98% बीमारियों का योग-आयुर्वेद में स्थाई समाधान है, हम इंटीग्रेटेड पैथी के पक्ष में है. योग-आयुर्वेद को स्यूडो-साइंस और अल्टरनेटिव थेरेपी कहकर मजाक उड़ाना व नीचा दिखाने की मानसिकता को देश बर्दाश्त नहीं करेगा.

अक्षय उतरे समर्थन में

  • इससे पहले आयुर्वेद के समर्थन में फिल्म स्टार अक्षय कुमार ने भी एक वीडियो शेयर किया. अक्षय ने कहा, ‘आप अपनी बॉडी के खुद ब्रांड अम्बेसडर बनें, सिंपल और हेल्दी लाइफ जीयें और दुनिया को दिखा दें कि हमारे हिंदुस्तानी योग व आयुर्वेद में जो ताकत है वह किसी अंग्रेज केमिकल इंजेक्शन में नहीं है.

जब

‘मेडिकल माफियाओं’

को दी चुनौती

  • इससे पहले शनिवार को रामदेव एक पुराना वीडियो शेयर कर कथित ‘मेडिकल माफियाओं’ को चुनौती दी थी. योग गुरु रामदेव ने फिल्म अभिनेता आमिर खान  के कार्यक्रम ‘सत्यमेव जयते’ का एक पुराना वीडियो शेयर किया. इस वीडियो में दावा किया जा रहा है कि फार्मा कंपनियों और डॉक्टरों की सांठगांठ के चलते ‘मोनोपली’  के कारण जरूरतमंद को कई गुना अधिक कीमत पर दवा खरीदने के लिए मजबूर होना पड़ता है. वीडियो में समझाया जा रहा है कि जेनरिक दवा डॉक्टरों द्वारा लिखी जा रही दवाओं से कितनी सस्ती होती है फिर भी मरीज को महंगी दवा लेने के लिए मजबूर होना पड़ता है. रामदेव ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘इन मेडिकल माफियाओं में हिम्मत है तो आमिर खान के खिलाफ मोर्चा खोलें.’

क्या है मामला

  • बता दें, एलोपैथी और एलोपैथिक चिकित्सकों पर की गई बाबा रामदेव की कथित टिप्पणी के बाद विवाद शुरू हुआ. IMA ने मोर्चा खोलते हुए रामदेव के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डा. हर्षवर्धन ने बाबा रामदेव को पत्र लिख सख्त संदेश दिया, जिसके बाद योग गुरु ने अपना बयान वापस ले लिया. लेकिन इसके तुरंत बाद रामदेव डॉक्टरों और फार्मा कंपनियों से सवाल पूछते हुए ओपन लेटर लिख दिया. वहीं आईएमए ने बाबा रामदेव को सार्वजनिक रूप से पैनल डिस्कशन के साथ बहस के लिए चुनौती दी है.
अगर आपको यह पोस्ट जानकारी पूर्ण उपयोगी लगे तो कृपया इसे शेयर जरूर करें।

बाबा रामदेव ने वर्तमान में इस बढ़ते विवाद पर क्या कहा Pradakshina Consulting PVT LTD

बंगाल के बवाल में कौन है बेहल – अलपन बंदोपाध्याय को भेजा गया रिमाइंडर

ठगो से सावधान : नये तरीकों से उड़ाये लाखों, अपराध दर्ज

छत्तीसगढ़ में एक जून से शुरू होगी : मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना – पढ़े विस्तार से पूरी खबर

Support Us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *